~~~रूह~~~


Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers

 

रूह कई जन्मों तक तरसी है मेरी
चंद दिनों में प्यास तुम बुझा पाओगे नहीं

चाहत है जिस आग की मुझे मेरे रहबर
वो आग मेरे सीने में लगा पाओगे नहीं

ग़ालिब और गुलज़ार जिस राह पर गए हैं गुज़र
उस राह पर तुम मुझको ला पाओगे नहीं

तेरे नाम से इश्क की शमा जो रौशन की है
क़यामत तक तुम उसे बुझा पाओगे नहीं

भुला भी दोगे गर ये जग सारा
“अनुरागको चाहा के भुला पाओगे नहीं

मैं वह परवाना हूं बिछड़ा हुआ आग से अब
उस शोले से तुम मुझको मिला पाओगे नहीं

 

मैं अपने ब्लॉग को #Blogchatter के #MyFriendAlexa के साथ अगले स्तर पर ले जा रहा हूं।

 

1,002 total views, 6 views today

One thought on “~~~रूह~~~

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *